Wednesday, January 2, 2013

'रैपर' हनी सिंह बन गया 'रेपिस्ट'

पंजाबी रैपर हनी सिंह.. जिनके गानों ने रिकार्ड पर रिकार्ड बनाये हैं आज सवालों के घेरे में हैं उन पर मुकदमा किया गया है। वजह है अश्लील शब्दों का प्रयोग धड़ल्ले से अपने गानों  में करना। लेकिन  केस तो आज  दर्ज हुआ है वो भी उस गाने पर जो कि एक साल पहले मार्केट में आया था। 'मैं हूं बलात्कारी'...सांग ने एक साल पहले ही लोकप्रियता बटोरी ली थी  और धड़ल्ले से पैसे कमाये थे।

ऐसी कोई पंजाबी शादी नहीं होगी जहां हनी के गाने नहीं बजे, लोगों ने जमकर बारातों में ठुमके लगाये लेकिन ना तो कोई हंगामा मचा और ना ही कोई बवाल हुआ। लेकिन आज करीब एक साल बाद जब दिल्ली में एक मासूम लड़की कुछ लोगों के हवस का शिकार हो गयी औऱ लोग सड़कों पर निकल आये तो समाज के ठेकेदार अचानक से जाग गये और हनी सिंह पर एक्शन ले लिया।

मालूम हो कि साल 2009 से ही हनी सिंह ने पंजाबी रैप संगीत में अश्लीलता परोसनी शुरू कर दी थी। लोगों को उसका यह प्रयोग पसंद आ रहा था तो उसने अपना यह प्रयोग धड़लल्ले से जारी रखा और वो पंजाबी रैप म्यूजिक का सरताज बन बैठा। दौलत और शौहरत की इस आंधी में वो यह भी भूल बैठा कि वो उसने बड़ी आसानी से धीरे-धीरे रैप म्यूजिक  का रेप कर दिया है।

अगर आप हनी सिंह के एक-एक वीडियो पर गौर फरमाये तो उसमें अश्लीलता के सिवाय और कुछ नहीं मिलेगा लेकिन लोग धड़ल्ले से उसकी इस कोशिश का हिस्सा बनते गये और मनोरंजित होते रहे जिसका परिणाम यह हुआ कि हनी सिंह जैसे सुरों के महारथि ने संगीत का ही बलात्कार कर दिया।

भले ही आज दोषी बना कर उस पर केस दर्ज किया गया है लेकिन यहां सोचने वाली बात यह है कि इन दोषियों के जन्मदाता कौन हैं? क्योंकि अगर समाज से अश्लीलता और अपराध को रोकना है तो पहले उसका खात्मा करना पड़ेगा जो  कि अश्लील गायकों के जनक हैं।

मालूम हो कि  हनी सिंह का के खिलाफ अश्लील गाने गाने और महिलाओं के लिए अपमानजनक शब्दों का प्रयोंग करने के जुर्म में लखनऊ में FIR दर्ज करायी गयी है। जिसे  दर्ज कराया है कि पूर्व वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी  अमिताभ ठाकुर ने।

अमिताभ ठाकुर का कहना है  कि हनी सिंह ने अश्लीलता और भद्देपन की सभी सीमाएं लांघने वाले गाने ‘मैं हूं बलात्कारी' और ‘केंदे पेचायिया' गाने लिखे और गाये हैं जो कि समाज में गलत चीजों को प्रसारित करते हैं। ये गाने अत्यंत अश्लील, उत्तेजक और अभद्र होने के कारण भारतीय दंड विधान की विभिन्न धाराओं के तहत अपराध की श्रेणी में आते हैं। इसलिए हनी सिंह के खिलाफ उन्होंने मुकदमा किया है।

2 comments:

  1. Ankur Ji bahut accha likha hai aapne..

    ReplyDelete
  2. चलो देर आयद -दुरुस्त आयद

    ReplyDelete